crossorigin="anonymous"> (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});


Ganga Saptami : हर साल वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को गंगा सप्तमी या गंगा जयंती का पावन पर्व मनाया जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन मां गंगा भोलेनाथ की जटाओं में समा गईं थीं।। इस साल 8 मई, 2022, रविवार को गंगा सप्तमी का पावन पर्व मनाया जाएगा। गंगा सप्तमी के पावन दिन गंगा नदी में स्नान का विशेष महत्व होता है। मां गंगा को प्रसन्न करने के लिए इस दिन मां गंगा की आरती जरूर करें। आगे पढ़ें मां गंगा की आरती-

  • मां गंगा की आरती-

ॐ जय गंगे माता, श्री गंगे माता।

जो नर तुमको ध्याता, मनवांछित फल पाता।

ॐ जय गंगे माता…

चन्द्र-सी ज्योत तुम्हारी जल निर्मल आता।

शरण पड़े जो तेरी, सो नर तर जाता।

ॐ जय गंगे माता…

15 मई से शुरू होंगे इन राशियों के अच्छे दिन, जानें सूर्य के राशि परिवर्तन से किसे होगा फायदा- नुकसान

पुत्र सगर के तारे सब जग को ज्ञाता।

कृपा दृष्टि तुम्हारी, त्रिभुवन सुख दाता।

ॐ जय गंगे माता…

एक ही बार भी जो नर तेरी शरणगति आता।

यम की त्रास मिटा कर, परम गति पाता।

ॐ जय गंगे माता…

आरती मात तुम्हारी जो जन नित्य गाता।

दास वही जो सहज में मुक्ति को पाता।

ॐ जय गंगे माता…

ॐ जय गंगे माता…।।

संबंधित खबरें

.



Source link

crossorigin="anonymous"> (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here